माइकल जोर्डन - प्रेरणा देने वाली कहानी

माइकल जेफ्फेरी जॉर्डन (Michael Jordan) का जन्म १७ फ़रवरी १९६३ (February 17, 1963) को ब्रुकलिन, न्यू यॉर्क में हुआ था। माइकल जॉर्डन अमरीका के एक बहुत ही प्रसिद्ध बास्केटबॉल खिलाड़ी हैं। इन्होने नेशनल बास्केटबॉल एसोसिएशन के द्वारा बहुत नाम कमाया है! ये एक उद्यमी हैं और बहुमत रूप से चार्लोटे बोब्कट्स के मालिक भी हैं। इनकी जीवनी जो नेशनल बास्केटबॉल एसोसिएशन पर है, उसमे कहा गया है कि माइकल जॉर्डन इस खेल के सबसे बड़े और मशूर खिलाडी हैं। जॉर्डन अपने पीड़ी के सबसे पड़े और प्रभावित खिलड़ी थे और 1990 के दशक में दुनिया भर में न्. बी. ए को लोकप्रियक बनाने में इनकी भूमिका बहुत ही महत्वपूर्ण रही है। नॉर्थ कैरोलिना के चैपल हिल में ये तीन सीजन व्यवसाई के हैसियत से एक सदस्य थे और उसके बाद सन 1984 में वे न् .बी. ए के शिकागो बुल्स से जुड़ गए। उनके खेल का प्रदर्शन इतना अछा था कि सारे लोग उनसे बहुत प्रभावित होगये। माइकल जॉर्डन को 'एयर जॉर्डन' या 'हिस एर्नेस' के नाम से भी बुलाया जाता था। सन 1991 में इन्होने अपनी पहली न्. बी. य चैंपियनशिप जीता और उसके बाद लगातार दो साल तक इस जीत को बनाये रखा. एक वक़्त ऐसा भी था जब जॉर्डन बास्केटबॉल से निवृत्त होकर बेसबॉल में दिलचस्बी दिखाई लेकिन फिर उन्होंने अपना व्यवसाई बास्केटबॉल में ही बनाने का निर्णय लिया। जॉर्डन इस कदर मशुर थे कि वो अन्य वस्तुएं कि बेचीं में भी अपना जादू चला सकते थे। माइकल जॉर्डन एक ऐसे व्यक्ति हैं जो आज कल कि युवा पीड़ी का साहस बड़ाते हैं। माइकल जॉर्डन बासकेटबाल के भगवान है।

आपको इनकी इस प्रेरक कहानी से बहुत प्रेरणा मिलने वाली है।

michael jordan

कहानी:-

माइकल जॉर्डन बचपन से ही अपने पिताजी के आज्ञाकारी बेटे थे। एक बार उनके पिता ने उनको एक टी-शर्ट दी और कहा कि माइकल इस टी-शर्ट को बेच कर दिखाओ । माइकल कभी नही बोले कि पिताजी मैं यह काम नही कर पाऊंगा।

माइकल गए और उस टीशर्ट को 1 डॉलर ($1) मे बेच कर आये उनके पिता ने उनको शाबाशी दी और अगली बार फिर कहा माइकल जाओ और अबकी बार इसे 2 डॉलर ($2) मे बेचकर दिखाओ, माइकल गए और धूप में परेशान होते रहे लेकिन टीशर्ट नही बिकी।

माइकल ने दिमाग लगाया और टी-शर्ट पर मिकी माउस की तस्वीर प्रिंट की और एक अच्छे स्कूल के बाहर खड़े हो गए जहाँ अमीरो के बच्चे पढ़ते थे। तभी एक बच्चे को वह टी-शर्ट पसंद आ गयी और उसके माता-पिता ने उस बच्चे को वह टी-शर्ट दिला दी। इसके बदले माइकल को 20 डॉलर ($20) मिले। माइकल घर आये और पिता को 20 डॉलर ($20) थमा दिए। पिता ने उनको शाबाशी दी।

एक बार फिर उनके पिता ने उनको यही काम दिया लेकिन  इस बार टीशर्ट 200 डॉलर ($200) मे बेचनी थी माइकल ने मना नही किया और बेचने निकल गए तभी माइकल को पता चला कि हॉलीवुड की एक  प्रसिद्ध अभिनेत्री बगल के किसी शहर में आयी हुई है। माइकल बिना टिकट ट्रैन से सफर करके चले गए और लोगों की भीड़ को चीरते हुए निकल गए और सीधे एक्ट्रेस के पास पहुंचे। सुरक्षा कर्मी ने उनको रोकने की कोशिश की,लेकिन वह वहाँ पहुंच चुके थे, माइकल के मासूम चेहरे को देखकर एक्ट्रेस ने उनको ऑटोग्राफ दे दिया।

माइकल वापस आये और चौराहे पर आके टी-शर्ट को बेचने लगे । कुछ ही देर में वहाँ लोगो की भीड़ जमा हो गयी। हर कोई वह टी-शर्ट खरीदने के लिए आतुर था, किसी ने कहा 200 डॉलर ($200) किसी ने कहा 500 डॉलर ($500) और अंततः वह टी-शर्ट माइकल ने 2000 डॉलर ($2000) में बेच दी।